नूर मुहम्मद

विकिपुस्तक से
Jump to navigation Jump to search

नूर मुहम्मद

नूर मोहम्मद ने अनुराग बांसुरी (1764) और इंद्रावती नामक दो ग्रंथों की रचना की है। अनुराग बांसुरी की भाषा अवधि है। यह (एलेगरी) रूपक–काव्य है। इसकी पूरी कहानी और सारे पात्र रूपक हैं। इसका विषय तत्वज्ञान संबंधी है।

आचार्य रामचंद्र शुक्ल ने अनुराग बांसुरी की निम्नलिखित विशेषताओं का उल्लेख किया है — १. इसकी भाषा सूफी रचनाओं से बहुत अधिक संस्कृतगर्भित है। २. हिंदी भाषा के प्रति मुसलमानों का भाव। ३. शरीर जीवात्मा और मनोवृत्तियों को लेकर पूरा अध्यवसित रूपक (एलेगरी) खड़ा करके कहानी बांधी है। ४. चौपाई के बीच–बीच में इन्होंने दोहे न लिखकर बरवै रखा है।

नूर मुहम्मद की एक अन्य रचना इंद्रावती है। जिसमें कालिंजर की राजकुमार राजकुंवर और आगमपुर की राजकुमारी इंद्रावती की प्रेम कहानी का वर्णन है।