हिन्दी व्याकरण/प्रत्यय

Wikibooks से
< हिन्दी व्याकरण(हिन्दी/प्रत्यय से पुनर्निर्देशित)
Jump to navigation Jump to search

प्रत्यय (suffix) उन शब्दों को कहते हैं जो किसी अन्य शब्द के अन्त में लगाये जाते हैं। इनके लगाने से शब्द के अर्थ में भिन्नता या वैशिष्ट्य आ जाता है। उदाहरण

वान

यह किसी व्यक्ति की विशेषता दर्शाते समय उपयोग होता है। जैसे यह पहलवान बहुत बलवान है।

   धन + वान = धनवान
   विद्या + वान = विद्वान
   बल + वान = बलवान

ता

   उदार + ता = उदारता
   सफल + ता = सफलता

   पण्डित + ई = पण्डिताई
   चालाक + ई = चालाकी
   ज्ञान + ई - ज्ञानी

ओं

इसका उपयोग एक वचन शब्दों को बहुवचन शब्द बनाने के लिए किया जाता है।

   भाषा + ओं = भाषाओं
   शब्द + ओं = शब्दों
   वाक्य + ओं = वाक्यों
   कार्य + ओं = कार्यों

याँ

   नदी + याँ = नदियाँ
   प्रति + याँ = प्रतियाँ
  • अक लेख्, पाठ्, कृ, गै लेखक, पाठक, कारक, गायक
  • अन पाल्, सह्, ने, चर् पालन, सहन, नयन, चरण
  • अना घट्, तुल्, वंद्, विद् घटना, तुलना, वन्दना, वेदना
  • अनीय मान्, रम्, दृश्, पूज्, श्रु माननीय, रमणीय, दर्शनीय, पूजनीय, श्रवणीय
  • सूख, भूल, जाग, पूज, इष्, भिक्ष् सूखा, भूला, जागा, पूजा, इच्छा, भिक्षा
  • आई लड़, सिल, पढ़, चढ़ लड़ाई, सिलाई, पढ़ाई, चढ़ाई
  • आन उड़, मिल, दौड़ उड़ान, मिलान, दौड़ान
  • हर, गिर, दशरथ, माला हरि, गिरि, दाशरथि, माली
  • इया छल, जड़, बढ़, घट छलिया, जड़िया, बढ़िया, घटिया
  • इत पठ, व्यथा, फल, पुष्प पठित, व्यथित, फलित, पुष्पित
  • इत्र चर्, पो, खन् चरित्र, पवित्र, खनित्र
  • इयल अड़, मर, सड़ अड़ियल, मरियल, सड़ियल
  • हँस, बोल, त्यज्, रेत हँसी, बोली, त्यागी, रेती
  • उक इच्छ्, भिक्ष् इच्छुक, भिक्षुक
  • तव्य कृ, वच् कर्तव्य, वक्तव्य
  • ता आ, जा, बह, मर, गा आता, जाता, बहता, मरता, गाता
  • ति अ, प्री, शक्, भज अति, प्रीति, शक्ति, भक्ति
  • ते जा, खा जाते, खाते
  • त्र अन्य, सर्व, अस् अन्यत्र, सर्वत्र, अस्त्र
  • क्रंद, वंद, मंद, खिद्, बेल, ले क्रंदन, वंदन, मंदन, खिन्न, बेलन, लेन
  • ना पढ़, लिख, बेल, गा पढ़ना, लिखना, बेलना, गाना
  • दा, धा दाम, धाम
  • गद्, पद्, कृ, पंडित, पश्चात्, दंत्, ओष्ठ् गद्य, पद्य, कृत्य, पाण्डित्य, पाश्चात्य, दंत्य, ओष्ठ्य
  • या मृग, विद् मृगया, विद्या
  • वाला देना, आना, पढ़ना देनेवाला, आनेवाला, पढ़नेवाला
  • हार होना, रखना, खेवना होनहार, रखनहार, खेवनहार