हिन्दी व्याकरण

Wikibooks से
Jump to navigation Jump to search

हिन्दी व्याकरण और हिन्दी भाषा बहुत सरल होता है। लेकिन हिन्दी भाषा को शिक्षा के लिए पूरी तरह उपयुक्त और व्याकरण को सटीक बनाने के लिए हिन्दी व्याकरण का विस्तृत होना आवश्यक है।

सामग्री[सम्पादन]

  • गुणवाचक विशेषण
  • परिमाणवाचक विशेषण
  • संख्यावाचक विशेषण
  • कारक
  • कर्म कारक
  • करण कारक
  • संप्रदान कारक
  • भूतकाल
  • वर्तमानकाल
  • भविष्यकाल
  • क्रिया-विशेषण
  • कालवाचक क्रिया-विशेषण
  • स्थानवाचक क्रिया-विशेषण
  • परिमाणवाचक क्रिया-विशेषण
  • रीतिवाचक क्रिया-विशेषण
  • संधि
  • स्वर संधि
  • व्यंजन संधि
  • विसर्ग संधि
  • समास
  • अलंकार
  • शब्दालंकार
  • अर्थालंकार

इसे भी देखें[सम्पादन]