अंग्रेज़ी व्याकरण/विशेषण

विकिपुस्तक से
नेविगेशन पर जाएँ खोज पर जाएँ
English language.svg
अंग्रेज़ी व्याकरण
व्याकरण
  1. संज्ञा
  2. सर्वनाम
  3. विशेषण
  4. क्रिया
  5. क्रियाविशेषण
  6. संबंध कारक
  7. समुच्चयबोधक
  8. कर्म-क्रिया-संबंध
  9. आर्टिकल
  10. काल
  11. वाच्य
  12. समानार्थी शब्द
  13. विलोम शब्द
  14. अनेक शब्दों के लिए एक शब्द

किसी शब्द की विशेषताओं अथवा गुणों का बोध कराने वाले शब्दों को विशेषण यानी adjective कहा जाता है, जैसे "big" ("बड़ा"), "tall" ("ऊँचा"), "beautiful" ("सुंदर"), "blue" ("नीला")। वाक्यों में प्रयोग के उदाहरण हैं:

  1. The building is really large. (मकान बहुत बड़ा है।)
  2. Rohan is very tall. (रोहन बहुत लंबा है।)
  3. The dress is very beautiful. (पोशाक बहुत सुंदर है।)

मानक अंग्रेज़ी में विशेषण का कोई भेद नहीं होता, मगर अंग्रेज़ी के भारतीय संस्करण में अंग्रेज़ी के चार भेद हैं, जिन्हें हिन्दी से प्राप्त किया गया है। वे भेद हैं:

  1. Qualitative adjective (गुणवाचक विशेषण)
  2. Quantitative adjective (परिमाणवाचक विशेषण)
  3. Numeric adjective (संख्यावाचक विशेषण)
  4. Demonstrative adjective (सार्वनामिक विशेषण)

विशेषण हमेशा संज्ञा की विशेषता बताता है, और इससे कुछ सवालों का जवाब दिया जा सकता है जैसे "X कैसा दिखता है?" या "X किस रंग का है?"।

गुणवाचक विशेषण (qualitative adjective)[सम्पादन]

शब्द जो विशेष्य के गुण को दर्शाते हों, उन्हें गुणवाचक विशेषण कहा जाता है। इसके कुछ उदाहरण हैं "good" ("अच्छा"), "bad" ("बुरा"), "honest" ("ईमानदार")। इस भेद को भी पाँच उपभेदों में बाँटा जाता है:

आकारबोधक (आकार/shape-size)
उदाहरण: "tall" ("लंबा"), "small" ("छोटा"), "round" ("गोल")।
स्थानबोधक (स्थान/place)
उदाहरण: "Japanese" ("जापानी"), "Rajasthani" ("राजस्थानी"), "above" ("ऊपर"), "below" ("नीचे")।
रंगबोधक (रंग/colour)
उदाहरण: "red" ("लाल"), "yellow" ("पीला"), "black" ("काला"), "blue" ("नीला")।
गंधबोधक (गंध/smell-taste)
Example: "sweet" ("मीठा"), "tasteless" ("बेस्वाद"), "perfumed" ("सुगंधित")।

परिमाणवाचक विशेषण (quantitative adjective)[सम्पादन]

शब्द जो विशेष्य की मात्रा को दर्शाते हों, उन्हें परिमाणवाचक विशेषण कहा जाता है। इसके कुछ उदाहरण हैं "two kilograms" ("दो किलोग्राम"), "two litres" ("दो लीटर")। परिमाणवाचक विशेषणों को दो उपभेदों में बाँटा जाता है:

निश्चित परिमाणवाचक विशेषण (definite quantative adjective)
उदाहरण: "ten kilograms" ("दस किलोग्राम"), "hundred metres" ("सौ मीटर")।
अनिश्चित परिमाणवाचक विशेषण (indefinite quantative adjective)
उदाहरण: "more" ("अधिक"), "many" ("कई"), "some" ("कुछ")।

संख्यावाचक विशेषण (numeric adjective)[सम्पादन]

शब्द जो विशेष्य की संख्या को दर्शाते हों, उन्हें संख्यावाचक विशेषण कहा जाता है। इसके कुछ उदाहरण हैं "two" ("दो"), "fifth" ("पाँचवा"), "double" ("दुगना")। वाक्य में प्रयोग के कुछ उदाहरण हैं:

  1. I was at fifth position in the marathon. (मैं दौड़ने की प्रतियोगिता में पाँचवें स्थान पर था।)
  2. The population of India has doubled within 40 years. (40 वर्षों के अंदर भारत की जनसंख्या में दुगनी वृद्धि आई है।)

सार्वनामिक विशेषण (demonstrative adjective)[सम्पादन]

शब्द जो विशेष्य से पहले लगकर उस संज्ञा शब्द की विशेषण की तरह विशेषता बताते हैं, वे शब्द सार्वनामिक विशेषण अर्थात् "demonstrative adjectives" कहलाते हैं। इसके कुछ उदाहरण हैं "that" ("वह") और "this" ("यह")। वाक्य में प्रयोग के उदाहरण हैं:

  1. That pen is mine. (वह कलम मेरा है।)
  2. Those kids will never listen. (वो बच्चे कभी बात नहीं मानेंगे।)

सर्वनाम और सार्वनामिक विशेषण में अंतर[सम्पादन]

दोनों में मुख्य अंतर यह है कि निश्चयवाचक सर्वनामों (demonstrative pronouns) के बाद हमेशा किसी सहायक क्रिया (helping verb) अथवा क्रिया (verb) का इस्तेमाल होता है, जबकि सार्वनामिक विशेषणों के बाद हमेशा सिर्फ विशेष्य ही आ पाएगा। निश्चयवाचक सर्वनाम वाले वाक्यों में अधिकारात्मक सर्वनामों (possessive pronouns) का इस्तेमाल किया जाता है, जबकि सार्वनामिक विशेषणों वाले वाक्यों में अधिकारात्मक संज्ञा शब्दों का इस्तेमाल किया जाता है।

निश्चयवाचक सर्वनाम सार्वनामिक विशेषण
This is my pen. This pen belongs to me.
This pen is mine.