कृष्ण काव्य में माधुर्य भक्ति के कवि/चतुर्भुजदास की रचनाएँ

Wikibooks से
Jump to navigation Jump to search


आचार्य रामचन्द्र शुक्ल तथा आचार्य हजारी प्रसाद द्विवेदी ने अपने अपने साहित्य के इतिहास के ग्रन्थ में निम्न रचनाओं का उल्लेख किया है :

  • द्वादश यश
  • हित जू को मंगल
  • भक्ति प्रकाश

इसके अतिरिक्त कुछ स्फुट पद।