कृष्ण काव्य में माधुर्य भक्ति के कवि/परमानन्ददास की रचनाएँ

Wikibooks से
Jump to navigation Jump to search


  • दान लीला
  • उद्धव लीला
  • ध्रुव चरित्र
  • संस्कृत रत्नमाला
  • दधि लीला
  • परमानन्ददास जी पद
  • परमानन्द सागर

उपर्युक्त ग्रन्थों में पहले पाँच ग्रन्थ उपलब्ध नहीं है छठा ग्रन्थ सातवें का ही अंगमात्र है। उनकी एक मात्र प्रामाणिक कृति परमानन्द सागर है।