कृष्ण काव्य में माधुर्य भक्ति के कवि/मीराबाई की रचनाएँ

Wikibooks से
Jump to navigation Jump to search


मीरा की जिन रचनाओं की चर्चा विद्वानों ने की है वे निम्न प्रकार हैं:

  • नरसी जी रो माहेरो
  • गीत गोविन्द की टीका
  • राग गोविन्द
  • सोरठ के पद
  • मीराबाई की मलार
  • गर्वागीत
  • फुटकर पद

मीरा के जितने भी पद अद्यावधि प्राप्त हुए हैं ~`चाहे वह किसी भी भाषा अथवा किसी रूप में क्यों न हों उनको फुटकर पदों के रूप में संग्रहीत कर दिया गया है।