गूगल/गूगल व्यवसाय

विकिपुस्तक से
Jump to navigation Jump to search

गूगल व्यवसाय[सम्पादन]

यह सेवा गूगल के द्वारा दी जाती है, जिसमें ऐसा लगता है की गूगल सभी को व्यवसाय से जुड़ी सेवा दे रहा है। लेकिन इसके साथ ही गूगल अपने अन्य परियोजना में भी इसका भरपूर रूप से उपयोग करता है।

जानकारी का उपयोग[सम्पादन]

आपके द्वारा आपके व्यवसाय से जुड़ी जानकारी का उपयोग गूगल कई तरह के कार्यों में करता है। जैसे नई सेवा शुरू करने, अपनी सेवा में आपकी जानकारी का उपयोग करने आदि। व्यवसाय से जुड़ी जानकारी जैसे नाम पता आदि को यह गूगल खोज, गूगल प्लस आदि सेवा में मुख्य रूप से उपयोग करता है। यह आपके व्यवसाय के स्थल की जानकारी अपने मानचित्र में रख देता है। जिससे कोई भी आपके व्यवसाय तक पहुँच सके। लेकिन इसका मुख्य लाभ गूगल को होता है जो आपके द्वारा किए गए कार्यों के कारण ही पैसे कमा लेता है और लोगों को लगता है की इसमें बहुत अधिक जानकारी होती है।

गूगल को लाभ[सम्पादन]

गूगल आपके द्वारा दी जाने वाली सभी जानकारी को अपने पास रखता है और उसका व्यावसायिक रूप से भी उपयोग करता है। किसी भी कंपनी के पास जितनी अधिक आपके और आपकी कंपनी की जानकारी होगी, वह कंपनी उतनी अच्छी तरह से आपके व्यवसाय को समझ सकेगी और उसके अनुरूप बाद में अपनी कोई सेवा शुरू कर देगी। इसके कई उदाहरण भी हैं, जिसमें गूगल ने बाजार के और उसके मांग को देख कर अपनी कोई नई सेवा को शुरू किया।

गूगल इस जानकारी का उपयोग गूगल प्लस पर करता है। यदि आपने गूगल प्लस का खाता बनाया है तो वह आपको इसे हमेशा ताजा रखने कहता है। जीतने लोग गूगल के इस सेवा का उपयोग करेंगे। उतने ही लोग उससे और जुड़ेंगे भी। उदाहरण के लिए यदि आपने उसकी इस सेवा को ले लिया और किसी ने आपको इस तरह के किसी जालस्थल पर संदेश देने हेतु कहा तो आप उसे गूगल प्लस के उपयोग हेतु कहेंगे। इससे गूगल का विज्ञापन भी हो जाता है। साथ ही यदि आपके पास कोई आपकी कंपनी के जालस्थल है, तो आप संपर्क हेतु भी गूगल प्लस के पते का उपयोग करोगे। इससे भी गूगल को लाभ मिलता है। क्योंकि कोई भी आपके जालस्थल पर जाएगा तो उसे आपके कंपनी से वार्ता करनी होगी तो वह सीधे गूगल के प्लस सेवा में खाता खोल कर आप से बात करेगा और बात करने के बाद भी वह उस सेवा में बने रहेगा जब तक की उसे वह बेकार न लगे। इसी तरह गूगल के पास नए नए प्रयोगकर्ता आते रहेंगे।

केवल इतना ही इसके लाभ का कारण नहीं है। यदि आप इसके किसी सेवा का बहुत उपयोग करते हो तो आप इसके आदी हो जाते हो। उदाहरण के लिए आपके सभी मित्र और ग्राहक इसमें हैं और आप इतने लोगों को खोना नहीं चाहते और न ही आप उन लोगों को किसी और माध्यम से संपर्क कर सकते हो। इस स्थिति में गूगल आपको अपनी सेवा हेतु पैसे मांगता है। लेकिन यह केवल तभी करता है जब आप 1 जीबी से अधिक गूगल के स्मृति का उपयोग कर लेते हो। लेकिन किसी किसी सेवा के लिए गूगल 2 या अधिक जीबी भी रखता है। लेकिन इतनी अधिक स्मृति को पुनः अपने पास रखना कठिन हैं और यदि आप ऐसा कर भी लेते हैं तो आपके मित्र और ग्राहक तो दूर हो ही जाते हैं। और आपने जो गूगल पर मेहनत भी की होगी वह भी पानी में चले जाता है। आप उन ग्राहकों के लिए कोई छवि भी नहीं डाल पाएंगे क्योंकि स्मृति की सीमा पूर्ण हो चुकी होगी। इसके बाद आपके पास केवल एक ही रास्ता बचता है। गूगल को पैसे देने का।

इसके बाद आप कुछ समय और गूगल की सेवा का उपयोग कर सकते हो। इसमें वह आपको 16 जीबी या 1 टीबी (टेराबाइट) देता है। यह सभी मासिक किस्त में ही मिलेगी। अर्थात यदि आप इस में फंस गए तो उसके बाद आपको उस स्मृति का तो उपयोग करना ही है। लेकिन यदि आपने उस स्मृति का उपयोग कर लिया तो उसके बाद आपको हर महीने उसके लिए पैसे देने होंगे। यदि आपने पैसे दिये तो आपको अगले महीने तक उपयोग करने की स्वीकृति मिल जाएगी। यदि आप ने ऐसा किसी महीने नहीं किया तो आपको कुछ समय के लिए स्मृति तो गूगल रख लेगा लेकिन आप कोई भी और छवि या वीडियो नहीं डाल पाएंगे। साथ ही यदि आपने इसमें देरी की तो वह सभी सामग्री हटा दी जाएगी।

कुल मिलाकर यदि आप गूगल की किसी भी सेवा में एक पैसे भी भर रहे हो तो इस पर जानकारी लेना आवश्यक है की आप उस पैसे को कितने बार दे रहे हो और क्या आपके लिए यह आवश्यक है। यह भी देखना अत्यधिक आवश्यक है की पैसे देने का अर्थ है की आप उसमें धीरे धीरे और पैसे देने लगेंगे। इसके बाद यह सिलसिला कभी समाप्त नहीं होगा।