तर्कशास्त्र

विकिपुस्तक से
Jump to navigation Jump to search

तर्क की कला वहां के लिए महत्वपूर्ण है जहाँ के नागरिक कारण और प्रतिपादन के आधार पर देश को चलाते हैं ना कि ताकत के आधार पर

जब हमें उचित और अवलंबनीय निर्णय लेने की आवश्यकता हो. जब हमें जटिल परिस्थितियों में यह जानना हो कि क्या सही है और क्या नहीं ,तब तर्क ही वह एकमात्र साधन है जिस पर हम भरोसा कर सकते हैं कई बार हम अतर्कसंगत माध्यम जैसे आदत झुकाव या पूर्वाभ्यास के आधार पर निर्णय ले लेते है .परन्तु न्याय करना मुश्किल होता है और सफलता के लिए कारण की खोज करनी पड़ती है इसका मुख्य आधार या सही विधि बुद्धिवादी विधि है<अलमारी "दर्शनशास्त्र" मौजूद नहीं है।>