पाश्चात्य काव्यशास्त्र (दिवि)

विकिपुस्तक से
Jump to navigation Jump to search

पाश्चात्य काव्यशास्त्र की यह पुस्तक दिल्ली विश्वविद्यालय के स्नातक प्रतिष्ठा के पाठ्यक्रम के अनुसार तैयार किया गया है।

विषय सूची[सम्पादन]

  1. अरस्तु:अनुकरण सिद्धांत, विरेचन सिद्धांत, त्रासदी/
  2. लोन्जाइनस: उदात्त की अवधारणा, उदात्त के बाह्य श्रोत, उदात्त के आंतरिक स्रोत, उदात्त के अवरोधक/
  3. वर्डस्वर्थ और कॉलरिज: कविता सम्बन्धी मान्यताएं, काव्यभाषा संबंधी मान्यताएं/
  4. कॉलरिज का कल्पना-सिद्धांत
  5. टी.एस. इलियट- परम्परा और वैयक्तिक तथा निवँयक्तिकता का सिद्धांत, वस्तुनिष्ठ सहसंबंध/
  6. स्वच्छन्दतावाद
  7. मार्क्सवादी आलोचना
  8. संरचनावाद
  9. उत्तर-संरचनावाद
  10. बिंब
  11. प्रतीक
  12. विसंगति और विडम्बना
  13. यथार्थ
  14. फैंटेसी
  15. मिथक