लिनक्स मार्गदर्शिका/परिचय

विकिपुस्तक से
Jump to navigation Jump to search

परिचय[सम्पादन]

निःशुल्क और मुक्त स्रोत सॉफ्टवेयर की दुनिया में आपका स्वागत है!

लिनक्स में आपका स्वागत है! जीएनयू/लिनक्स को यूनिक्स ऑपरेटिंग सिस्टम द्वारा विकसित किया गया है, लेकिन यह ओपन सोर्स सॉफ्टवेयर है। जिसका अर्थ है कि आप इसका सोर्स कोड देख सकते हैं और इसे अपनी आवश्यकताओं के अनुरूप बदल सकते हैं। बेशक यह पुस्तक उन के लिए है जो लिनक्स की दुनिया में नए है। हम उच्च तकनीकी मुद्दों से दूर रहकर लिनक्स सीखेंगे। यह पुस्तक उस व्यक्ति के लिए उपयोगी साबित होगी जिसने लिनक्स के बारे में सिर्फ सुना है, इसे सीखना चाहता है या शायद वह व्यक्ति जो पहले से ही "डुबकी लगा चुका है" और अधिक जानकारी की तलाश कर रहा है या सोच रहा है कि लिनक्स स्थापित (इंस्टॉल) करने के लिए कहाँ से शुरू करे। लेकिन पहले, थोड़ा इतिहास का ज्ञान आवश्यक है।

"लिनक्स" नाम तकनीकी रूप से एक ऑपरेटिंग सिस्टम "कर्नल" को संदर्भित करता है जो कि एक पूर्ण ऑपरेटिंग सिस्टम का एकल लेकिन प्रमुख घटक है। दैनिक उपयोग में "लिनक्स" शब्द का उपयोग अक्सर एक पूर्ण ऑपरेटिंग सिस्टम को संदर्भित करने के लिए किया जाता है। एक पूर्ण ऑपरेटिंग सिस्टम में कर्नेल और ऑपरेटिंग सिस्टम को उपयोगी बनाने के लिए आवश्यक हजारों अन्य प्रकार के प्रोग्राम होते हैं। आमतौर पर 'लिनक्स सिस्टम' पर स्थापित होने वाले अधिकांश महत्वपूर्ण सॉफ्टवेयर जीएनयू परियोजना से आते हैं। जीएनयू पूर्ण रूप से मुफ्त सॉफ्टवेयर कि सहायता से बने ऑपरेटिंग सिस्टम को बनाने की एक परियोजना है।

प्रथम लिनक्स कर्नेल की रचना लिनुस टॉर्वाल्ड्स ने की थी। इसे पहली बार 5 अक्टूबर 1991 को रिलीज़ किया गया था। इसे केवल x86, सिंगल-प्रोसेसर ऑपरेटिंग सिस्टम के रूप में शुरू किया गया था, लेकिन यह सॉफ्टवेयर के सबसे पोर्टेड टुकड़ों में से एक बन गया। पूर्ण जीएनयू/लिनक्स सिस्टम के अन्य भाग या प्रोग्राम आदि अन्य परियोजनाएं जैसे जीएनयू परियोजना द्वारा विकसित किए गए हैं। जीएनयू और लिनक्स का एकीकरण कर आपूर्तिकर्ता आपको एक पूर्ण ऑपरेटिंग सिस्टम प्रदान करते हैं। आमतौर पर आपका आपूर्तिकर्ता इस एकीकृत संस्करण को अपना स्वयं का संस्करण नंबर (वर्जन) देगा।

जीएनयू परियोजन की देखरेख नि: शुल्क सॉफ्टवेयर फाउंडेशन द्वारा की जाती है, जो रिचर्ड स्टेलमैन द्वारा स्थापित किया गया है। वे मानते हैं कि लोगों को "जीएनयू/लिनक्स" शब्द का इस्तेमाल इस ऑपरेटिंग सिस्टम को संदर्भित करने के लिए किया जाना चाहिए, क्योंकि आवश्यक प्रोग्रामो में से कई वास्तव में जीएनयू परियोजना द्वारा लिखे गए थे।