शासन : चुनौतियाँ और मुद्दे/समृद्धि एवं विकास विमर्श : शासन से सुशासन

विकिपुस्तक से
Jump to navigation Jump to search

शासन, राज्य और राजनीति व्यवस्था के मध्य अंतर है| सामान्य सरकार को राज्य के एक अनुभाग के रूप में देखा जाता है राज्य की भांति ही, राजनीतिक व्यवस्था को समाज की अंतर्निर्मित सत्ता के रूप में देखा गया है जो शक्तियों तथा संसाधनों के अधिकारीक आवंटन और वितरण का कार्य करता है| राजनीतिक व्यवस्था राज्य की तुलना में ज्यादा समाज केंद्रित है| सरकारी निर्णयन समाज के समर्थन व मांग और अधिकारिक निर्णयों पर सामाजिक प्रतिक्रियाओं पर आधारित होता है

आधुनिक राष्ट्र-राज्य जो संप्रभुता, भूभागिता और नागरिकता के सांगठनिक सिद्धांतों पर आधारित है, उसकी उत्पत्ति वेस्टफालिया संधि (1648-1659) के द्वारा हुई। अमेरिकी स्वतंत्रता (1776) और फ्रांस की राज्य-क्रांति (1789) ने "राष्ट्रवाद" और "राज्य'" की अवधारणाओं के सहसंबंध को मजबूत किया। प्रिंट पूंजीवाद के विकास ने भाषायी राष्ट्रवाद का सृजन किया। इससे राष्ट्रवाद की आधुनिक राजनीतिक विचारधारा का उद्भव हुआ, जिसे बेनेडिक्ट एंडरसन ने "काल्पनिक राजनीतिक समुदाय" कहा है। इस अवधारणा के अनुसार, राष्ट्र बीज रूप से सर्वकालिक विचार है, परंतु राष्ट्रवाद एक आधुनिक विचारधारा है जो कल्पित एवं समाज द्वारा निर्मित है