संस्कृत तथ्यसमुच्चय-०१

Wikibooks से
Jump to navigation Jump to search


  • वेत्रवती नदी किस नगरी में स्थि​त थी? — विदिशा में
  • काव्यप्रकाश में उल्लिखित 'अनलंकृती' किसका विशेषण है? — शब्दार्थ का
  • मम्मट के अनुसार काव्य कितने प्रकार का होता है? — तीन
  • रघुवंश महाकाव्य किसकी स्तुति से प्रारम्भ होता है? — शिव-पार्वती की
  • भास द्वारा लिखित उपलब्ध नाटकों की संख्या कितनी है? — तेरह
  • किस नियम से ग्, द्, ब् हो जाते हैं क्, त्, प्? — ग्रिम नियम
  • लेट् लकार किस संस्युत में प्रयुक्त हुआ है? — वैदिक
  • काव्यप्रकाश में 'तात्पर्यार्थोsपि केषुचित्' में किसके मत का संकेत है? — मीमांसक
  • मम्मट के अनुसार उत्तमकाव्य क्या होता है? — ध्वनि
  • किस अलंकार में उपनाम-पक्ष उपमेय-पक्ष का निगरण कर लेता है? — अतिशयोक्ति
  • भूत एवं भावी घटनाओं की सूचना देने वाला नाट्यप्रयोग कौन-सा है? — विष्कम्भक
  • श्रृंगार रस में कौन सी वृत्ति का प्रयोग होता है? — कैशिकी
  • ध्वन्यालोक में 'काव्यस्यात्मा स एवार्थ:' से अभिप्राय है? — प्रतीयमान अर्थ
  • रसनिष्पत्ति के प्रसंग में भुक्तिवादी आचार्य कौन से हैं? — भट्टनायक
  • काव्यशास्त्रियों में कौन आचार्य मम्मट हैं? — समन्वयवादी
  • सन्धि कहाँ आवश्यक नहीं मानी जाती? — वाक्य में
  • 'मनोरथ:' में सन्धि-विच्छेद क्या होगा? — मन: + रथ:
  • 'विद्वान् + लिखति– में सन्धि क्या होगी? — विद्वाॅंल्लिखति
  • 'हिंत मनोहारि व दुर्लभ: वच:' सूक्ति किस काव्य की है? — किरातार्जुनीयम्
  • कौन-सा समास नित्य नपुंसकलिंग एकवचन में प्रयुक्त होता है? — द्विगु
  • 'समानाधिकरण तत्पुरुष' समास का नाम क्या है? — कर्मधारय
  • संस्कृत में 'कारकों' की संख्या कितनी मानी गई है? — छ:
  • 'रुच्यर्थानां प्रीयमाण:' यह सूत्र किस विभक्ति का विधायक है? — चतुर्थी
  • 'श्रीमद्भगवद्गीता' के द्वितीय अध्याय का नाम क्या है? — सांख्ययोग
  • 'नीलो घट:' में गुण-गुणी का कौन-सा सम्बन्ध है? — समवाय सम्बन्ध
  • 'न्यायशास्त्र' में प्रमेयों की संख्या कितनी मानी गई है? — बारह
  • 'सांख्य' के अनुसार इन्द्रियों की उत्पत्ति कहां से होती है? — अहंकार से
  • केवल 'जाति' में शब्द का संकेतग्रह मानने वाले मतवादी कौन हैं? — मीमांसक
  • 'अपोह' को शब्दार्थ मानने वाले मतवादी कौन हैं? — बौद्ध
  • मम्मट द्वारा उपादानलक्षणा के उदाहरण 'गौरनुबन्ध्य:' में किस आचार्य के मत का खण्डन किया गया है? — मुकुल भट्ट
  • रसनिष्पत्ति के सन्दर्भ में 'साधारणी-करण' का सर्वप्रथम प्रयोग किसने किया है? — भट्टनायक ने
  • शब्दगत एवं अर्थगत बीस गुणों के प्रतिपादक आचार्य कौन हैं? — वामन
  • अंगश्लेष को अर्थालंकारों में परिगणित करने वाले आचार्य कौन हैं? — रुय्यक
  • प्रस्तुत में अप्रस्तुत की सम्भावना होने पर अलंकार क्या होता है? — उत्प्रेक्षा
  • किस प्रकार के काव्य को एक 'देशानुकारि' कहा गया है? — खण्डकाव्य
  • अधोलिखित में से कौन सा काव्य अर्वाचीन है? — सीताचरितम्
  • नाट्य में जहाँ प्रस्तुत भावी कथावस्तु की अन्योक्तिमय सूचना दी जाती है वह क्या होता है? — पताकास्थानक
  • रूपक में भूत अथवा भावी घटनाओं की सूचना जहाँ मध्यम पात्रों द्वारा दी जाती है वह क्या होता है? — विष्कम्भक
  • आचार्य धनञ्चय ने दशरूपक में नागानन्द के नायक जीमूतवाहन को क्या माना है? — धीरोदात्त
  • 'प्रसन्नराघव' नाटक के रचयिता कौन हैं? — जयदेव
  • 'अभिज्ञानशाकुन्तल' के चतुर्थ अंक में 'लोकोनियम्यत इवात्मदशान्तरेषु' पघांश में अलंकार कौन सा है? — उत्प्रेक्षा
  • 'मेघदूत' में यक्ष 'वक्र: पन्था यदपि भवत:' आदि कहकर मेघ से किस नगरी में जाने का अनुरोध करता है? — उज्जयिनी
  • पूर्वमेघ में विन्ध्याचल की तलहटी में बिखरी हुई किस नदी का वर्णन है? — रेवा
  • 'सर्वे गुणा: काञ्चनमाश्रयन्ति' किसकी उक्ति है? — भर्तृहरि
  • 'मृच्छकटिकम्' प्रकरण के प्रथम अंक का नाम क्या है? — अलड्कारन्यास
  • 'शिवराजविजय' गद्यकाव्य का आरम्भ कहां से होता है? — सूर्योदय वर्णन से
  • 'भामिनीविलास' काव्य के रचयिता कौन हैं? — जगन्नाथ
  • किरातार्जुनीय महाकाव्य के प्रथम सर्ग में प्राय: प्रयुक्त छन्द कौन सा है? — वंशस्थ
  • सर्वप्रथम 'पञ्चतन्त्र' का सम्पादन किस विदेशी विद्वान ने किया? — हर्टेल
  • संस्कृ​त साहित्य में हास्य-व्यंग्य का सर्वश्रेष्ठ रचनाकार किसे माना जाता है? — दामोदर


  • ‘आर्य’ शब्द का अर्थ क्या है — श्रेष्ठ या कुलीन
  • आर्यों की भाषा क्या थी — संस्कृत
  • आर्यों का मुख्य व्यवसाय क्या था — पशुपालन एवं कृषि
  • आर्यों ने सबसे पहले किस धातु की खोज की — लोहा
  • उत्तर वैदिक काल के वेद विरोधी व ब्राह्मण विरोधी धार्मिक अध्यापकों को क्या कहा जाता था — श्रमण
  • वैदिक गणित का महत्वपूर्ण अंग क्या है — शुल्व सूत्र
  • वेदों की संख्या कितनी है — 4
  • सबसे प्राचीन वेद कौन-सा है — ऋग्वेद
  • किस वेद द्वारा वैदिक संस्कृति के बारे में ज्ञान होता है — ऋग्वेद द्वारा
  • भारत के राजचिन्ह में लिखा ‘सत्य-मेव-ज्यते’ किस उपनिषद से लिया गया है — मुंडक उपनिषद
  • भारतीय संगीत का आदि ग्रंथ किस वेद को कहा जाता है — सामवेद
  • प्रथम विधि निर्माता कौन है — मनु
  • ‘मनुस्मृति’ की रचना किसने की — मनु ने
  • कृष्ण भक्ति का प्रथम एवं प्रधान ग्रंथ कौन-सा है — श्रीमद्भागवत गीता
  • ऋग्वेद में संपत्ति का मुख्य रूप क्या है — गो धन
  • किस मंडल में शुद्रों का उल्लेख ऋग्वेद में पहली बार मिलता है — 10वें
  • पुराणों की संख्या कितनी है — 18
  • वैदिक धर्म का मुख्य लक्षण किसकी उपासना था — प्रकृति
  • किस देवता के लिए ऋग्वेद में पुरंदर शब्द का प्रयोग हुआ है — इंद्र के लिए
  • ‘शुल्व सूत्र’ किस विषय से संबंधित है — ज्यामिति से
  • ‘असतो मा सद्गमय’ कहाँ से लिया गया है — ऋग्वेद से
  • आर्य बाहर से आकार सर्वप्रथम कहाँ बसे थे — पंजाब में
  • ऋग्वेद का कौन-सा मंडल पूर्णतः सोम को समर्पित है — नौवाँ मंडल
  • ‘दस राजाओं का प्रसिद्ध युद्ध’ दसराज युद्ध किस नदी पर हुआ था — परुणी नदी पर
  • धर्म शास्त्रों में भू-राजस्व की दर क्या है — 1/6
  • 800 ई. पू. में 600 ई. पू. का युग कौन-सा युग कहा जाता है — ब्राह्मण युग
  • प्रसिद्ध गायत्री मंत्र किस पुस्तक में है — ऋग्वेद में
  • न्याय दर्शन को किसने प्रचारित किया था — गौतम ने
  • प्राचीन भारत में ‘निंक’ के नाम से किसे जाना जाता है — स्वर्ण आभूषणों को
  • योग दर्शन का प्रतिपादन किसने किया — पंतजलि
  • उपनिषद किस पर आधारित हैं — दर्शनपर
  • आरंभिक वैदिक सभ्यता में सबसे बड़ी नदी कौनसी थी — सिंधु नदी
  • कौन-सा वेद गद्य और पद्य दोनों में रचित है — यजुर्वेद
  • विश्व का सबसे बड़ा महाकाव्य कौन-सा है — महाभारत
  • महाभारत का दूसरा नाम क्या है — जयसंहिता
  • महाभारत के रचियता कौन हैं — देवव्यास
  • रामायण किसके द्वारा रचित है — वाल्मीकि
  • उपनिषद काल के राजा अश्वपति किस स्थान के शासक थे — केकैय
  • अध्यात्मक ज्ञान के संबंध में नचिकेता और यम का संवाद किस उपनिषद से प्राप्त होता है — कठोपनिषद्
  • वैदिक नदी ‘कुभा’ का स्थान कहाँ हैं — अफगानिस्तान में
  • कपिल मुनि द्वारा प्रतिपातिद की गई दार्शनिक प्रणाली कौन-सी है — सांख्य दर्शन
  • भारत के किस स्थल की खुदाई में लौहधातु के प्रचलन के प्रमाण मिले — अतरंजीखेड़ा
  • किस वेद का संकलन ऋग्वेद पर आधारित है — सामवेद
  • कर्म का सिद्धांत किससे संबंधित है — मीमांसा से
  • ‘चरक संहिता’ किससे संबंधित है — चिकित्सा से
  • यज्ञ संबंधी विधि-विधानों का पता किस वेद से चलता है — यजुर्वेद से
  • वैदिक युग की सभा क्या कहलाती थी — मंत्री परिषद
  • कौन-सी दस्तकारी आर्यों के द्वारा व्यवहार में नहीं लाई गई थी — लुहारगिरी
  • किस देव में जादुई माया और वशीकरण का वर्णन किया गया है — अथर्ववेद
  • प्राचीन व्याकरण ग्रंथ ‘अष्टाध्यायी’ किसके द्वारा रचित है — पाणिनी
  • मनुस्मृति किससे संबंधित है — समाज व्यवस्था से
  • गायत्री मंत्र की रचना किसने की — विश्वामित्र ने
  • अवेस्ता किस क्षेत्र से संबंधित है — ईरान से
  • आर्य भारत में कहाँ से आए — मध्य एशिया से
  • सैंधववासी मिठास के लिए किस वस्तु का प्रयोग करते थें — शहद का
  • सैंधव सभ्यता में कौन-सी प्रथा पचलित थी — पर्दाप्रथा व वेश्यावृत्ति
  • वैदिक काल की दो प्रसिद्ध विदुषी महिलाएं कौन थीं — अपाला व घोषा
  • ऋग्वेद में ‘अघन्य’ शब्द किस पशु के लिए प्रयोग किया गया है — गाय


संस्कृत भाषा महत्वपूर्ण प्रश्न उत्तर
  • संस्कृत भाषा है–
(a) अयोगात्मक (b) श्लिष्टयोगात्मक (c) प्रश्लिष्टयोगात्मक (d) अश्लिष्टयोगात्मक (उत्तर b)
  • ‘वेदान्तसार’ के अनुसार सूक्ष्मशरीर के अवयव हैं–
(a) आठ (b) सत्रह (c) बारह (d) अठारह (उत्तर b)
  • पालि में संस्कृत की यह ध्वनि नहीं मिलती–
(a) आ (b) ए (c) ऐ (d) ओ (उत्तर c)
  • ‘यतश्च निर्धारणम्’ किन विभक्तियों का विधायक है?
(a) प्रथमा-तृतीया (b) पञ्चमी-सप्तमी (c) षष्ठी-सप्तमी (d) चतुर्थी-द्वितीया (उत्तर c)
  • ‘गीता’ के अनुसार कर्मयोगी को कर्म करना चाहिए–
(a) यश के लिए (b) सुख के लिए (c) लोकसंग्रह के लिए (d) धनसंग्रह के लिए (उत्तर c)
  • अभिनवगुप्त के मतानुसार ‘रसप्रतीति’ है–
(a) निर्विकल्पकरूप (b) सविकल्पकरूप (c) उभयाभावस्वरूप (d) ज्ञाप्य (उत्तर c)
  • अधोलिखित में से कौन सा महाकाव्य 20 सर्गों में निबद्ध है?
(a) जानकीहरण (b) भट्टिकाव्य (c) सौन्दरनन्द (d) शिशुपालवधम् (उत्तर d)
  • ‘सकलकलं पुरमेतज्जातं सम्प्रति सुधांशुबिम्बमिव’ में मम्मट के अनुसार प्रधान अलंकार है–
(a) उपमा (b) श्लेष (c) अनुप्रास (d) उत्प्रेक्षा (उत्तर b)
  • द्विकर्मक दुह् याच् आदि बारह धातुओं का कर्मवाच्य बनाने में उनका गौणकर्म किस विभक्ति में आता है?
(a) प्रथमा (b) द्वितीय (c) तृतीया (d) चतुर्थी (उत्तर b)
  • अधोलिखित में से कौन सा ऐतिहासिक महाकाव्य है?
(a) नैषधीयचरितम् (b) जानकीहरणम् (c) विक्रमांकदेवचरितम् (d) बुद्धचरितम् (उत्तर d)
  • कर्मवाच्य और भाववाच्य में कर्ता में कौनसी विभक्ति होती है?
(a) प्रथमा (b) द्वितीया (c) तृतीया (d) चतुर्थी (उत्तर c)
  • ‘शरीरेsरि: प्रहरति हृदये स्वजनस्तथा’ सूक्ति का स्त्रोत है–
(a) प्रतिमानाटकम् (b) नीतिशतकम् (c) उत्तररामचरितम् (d) नलचम्पू: (उत्तर a)
  • ‘सांख्यदर्शन’ का मूल सिद्धान्त है —
(a) प्रकृति-पुरुषैक्य (b) प्रकृति-पुरुष-विवेक (c) प्रकृतिबहुत्व (d) पुरुषैकत्व (उत्तर b)
  • ‘श्रृंगारामृतशीतांशु:’ विशेषण किस काव्य के लिए प्रसिद्ध है?
(a) श्रृंगारशतकम् (b) अमरुशतकम् (c) मेघदूतम् (d) नैषधीयचरितम् (उत्तर b)
  • अपभ्रंश है–
(a) प्राचीन भारतीय आर्यभाषा (b) नवीन भारतीय आर्यभाषा (c) द्राविड परिवार की भाषा (d) मध्यकालीन भारतीय आर्यभाषा (उत्तर d)
  • किसकी प्रगृह्य संज्ञा नहीं होती?
(a) ओकारान्त द्विवचन (b) ऊकारान्त द्विवचन (c) ईकारान्त द्विवचन (d) एकारान्त ​द्विवचन (उत्तर a)
  • अधोलिखित युग्मों में से कौन-सा युग्म है, जो विरोधी होकर भी एक-दूसरे का अनुपूरक है?
(a) उपमा-उत्प्रेक्षा (b) रूपक-दीपक (c) काव्यलिंग-परिसंख्या (d) विभावना-विशेषोक्ति (उत्तर d)
  • मम्मट के अनुसार काव्य का प्रधान प्रयोजन है–
(a) यश:प्राप्ति (b) श्वितेरक्षति (c) कान्तासम्मि​त उपदेश (d) सद्य:परनिर्वृति (उत्तर c)
  • ‘वेदान्तसार’ में निर्विकल्पकसमाधि के अंग गिनाए गए हैं–
(a) आठ (b) सात (c) पाँच (d) दस (उत्तर a)
  • कौन-सा रूप शतृ प्रत्यय की दृष्टि से अशुद्ध है?
(a) कुर्वन् (b) कुर्वती (c) कुर्वन्ति (d) कुर्वत (उत्तर c)
  • भासकृत अधोलिखित नाटकों में से कौन-सा रामायणमूलक है?
(a) अभिषेकनाटकम् (b) उरुभंगम् (c) बालचरितम् (d) पञ्चरात्रम् (उत्तर c)
  • बाणभट्ट कृत ‘हर्षचरित’ है–
(a) कथा (b) आख्यायिका (c) उपन्यासिका (d) चम्पू (उत्तर b)
  • ‘उपकृतं बहु तत्र किमुच्यते’ आदि उदाहरण किससे सम्बद्ध हैं?
(a) तिरस्कृतवाच्यध्वनि (b) असंलक्ष्यध्वनि (c) लक्षणा (d) चित्रकाव्य (उत्तर a)
  • उपमेय को असत्य सिद्ध कर उपमान को सत्यरूप से स्थापित करने में अलंकार होता है-
(a) रूपक (b) व्यतिरेक (c) निदर्शना (d) अपह्नुति (उत्तर d)
  • कौन सा वाक्य शुद्ध है?
(a) रजकाय वस्त्रं ददाति (b) रजकं वस्त्रं ददाति (c) रजके वस्त्रं ददाति (d) रजकस्य वस्त्रं ददाति (उत्तर a

external links[सम्पादन]