सामान्य रसायन/रासायनिक समीकरण

विकिपुस्तक से
Jump to navigation Jump to search

रसायन शास्त्र को समझने के लिए रासायनिक समीकरण को समझना आवश्यक है। इसी से हमें पता चलता है कि किस तत्व से मिलकर कौनसा तत्व बनता है और उसे कैसे निर्मित किया जा सकता है। यहाँ आपके समझने हेतु सरल भाषा में यह जानकारी दिया गया है।

समीकरण की रचना[सम्पादन]

ऊपर दिये गये रासायनिक समीकरण में दिया गया है कि हाइड्रोजन और क्लोरीन गैस मिलकर हाइड्रोजन क्लोराइड गैस का निर्माण करते हैं। बाईं ओर अभिकारकों के नाम और दाईं ओर उत्पाद का नाम लिखा जाता है। HCL के आगे 2 लिखा गया है, जो दिखाता है कि यहाँ HCL में दो अणु हाइड्रोजन और दो अणु क्लोरीन गैस के हैं। हाइड्रोजन गैस (H) और क्लोरीन गैस (Cl) के नीचे 2 लिखा है, जो दिखाता है कि उनके एक अणु में कितने परमाणु हैं। इसमें दो लिखा है, तो यह स्पष्ट है कि इन दोनों गैसों के हर अणु में दो परमाणु हैं। इस संख्या के साथ ही वहाँ (g) लिखा हुआ है, यह बताता है कि यह गैसीय अवस्था में है।


चिह्न[सम्पादन]

E उस तत्व का रासायनिक चिह्न है, x परमाणुओं की संख्या दिखाता है, y आयन में होने वाला परिवर्तन है और (s) उसकी भौतिक स्थिति को दिखाता है।


  • (s) ठोस या कठोर
  • (l) तरल या द्रव
  • (g) गैसीय
  • (aq) जल में विलय