हिंदी व्याकरण/संधि

विकिपुस्तक से
नेविगेशन पर जाएँ खोज पर जाएँ

संधि दो या दो से अधिक शब्दों को एक साथ जोड़ने को संधि कहते हैं। संधि का अर्थ ही जोड़ना होता है। इनमें ऐसे शब्दों को लिया जाता है जो अलग अलग होने पर भी उनका अर्थ होता है।

संधि की परिभाषा– दो वर्णों अथवा अक्षरों के मेल (अर्थात जुड़ने या संयोग) से जो विकार उत्पन्न होता है‚ उसे संधि कहते हैं। उदाहरण–

  1. वायु + मण्डल= वायुमण्डल
  2. विद्‍या + आलय= विद्‍यालय
  3. दिक् + अम्बर= दिगम्बर
  4. समाज + इक= सामाजिक
  5. पो + अन= पवन

यह भी देखें[सम्पादन]