हिंदी पत्रकारिता/संवाददाता की योग्यता और दायित्व

विकिपुस्तक से
नेविगेशन पर जाएँ खोज पर जाएँ
हिंदी पत्रकारिता
 ← समाचार लेखन संवाददाता की योग्यता और दायित्व संपादन कला,संपादक का उत्तरदायित्व,शीर्षकीकरण, आमुख → 

समाचारों का शीघ्र संकलन,उनकी सुस्पष्ट व्याख्या तथा शुद्धता के साथ पाठकों के लिए उसे बोधगम्य बनाने का कार्य संवादाता करता है। वह गुप्तचर,मनोवैज्ञानिक एवं वकील के गुणों से संपन्न होकर अपनी प्रतिभा के बल पर समाज सेवा करता है। यह कार्य बड़ा कठिन है।व्यवहारिक ज्ञान और भाषा पर अधिकार यह संवादाता के मूल गुण होते हैं साथ ही उसमें श्रेष्ठ मानवीय मूल्यों का भी समावेश होना आवश्यक है। किसी भी संवादाता को पर्याप्त सहनशील, परिश्रमी, दूरदर्शी होने के साथ-साथ वाकपटुता में भी निपुण होना आवश्यक है। संवाददाता बनने के लिए निम्न योग्यताएं होना का आवश्यक है-

  1. संवाददाता के अंदर समाचार का बोध होना आवश्यक है। जैसे- किसी घटना को एक अच्छे समाचार का रूप कैसे दें तथा आस-पास घटित होने वाली अनेक घटनाओं के इस ढ़ेर में से पाठक या श्रोता के महत्व और रूचि के अनुसार समाचारों का वर्गीकरण कर उन्हें किस प्रकार संप्रेषित किया जाए।
  2. पैनी दृष्टि तथा विस्तृत श्रवण शक्ति।
  3. मुद्र लेखन, आशु लेखन एवं टंकण का ज्ञान।
  4. सत्यनिष्ठा और निर्भीकता।
  5. जटिल घटनाओं, विविध समस्याओं को समझने की शक्ति।
  6. समाचार की गहराई में जाने के लिए, नए-नए तथ्यों तथा सत्य को उद्घाटित करने के लिए जिज्ञासु-वृति का होना आवश्यक है।
  7. संवाददाता में कल्पना शक्ति साथ ही गतिशीलता, यथार्थता, वस्तुनिष्ठता भी होना महत्वपूर्ण है।