हिन्दी दिवस/इतिहास

विकिपुस्तक से
Jump to navigation Jump to search

| कारण →


हिन्दी दिवस का इतिहास बहुत पुराना है। 14 सितम्बर 1949 को हिन्दी भाषा के लिए कई महत्वपूर्ण निर्णय लिए गए थे। इस दिन हिन्दी भाषा को राजभाषा बनाया गया था। लेकिन कई तरह के विरोध के कारण एक गैर भारतीय भाषा अंग्रेज़ी को भी भारत की राजभाषा का स्थान मजबूरी में देना पड़ा था। इस कारण हिन्दी भाषा के विकास और अंग्रेज़ी भाषा को पूरे देश से हटाने के लिए हिन्दी दिवस मनाने का निर्णय लिया गया। 14 सितम्बर को ही हिन्दी भाषा के कई निर्णय लिए जाने के कारण इसे इस दिवस के लिए सबसे अच्छा दिन माना गया।