जनपदीय साहित्य

विकिपुस्तक से
नेविगेशन पर जाएँ खोज पर जाएँ

इस विषय से संबंधित अधिक जानकारी के लिए जनपदीय साहित्य सहायिका भी देख सकते हैं।

विषय-सूची[सम्पादन]

  1. इकाई-१ जनपदीय साहित्य की अवधारणा
    1. जनपदीय साहित्य की अवधारणा
    2. जनपदिय साहित्य के विविध रूप-लोकगीत, लोककथा, लोकगाथाएँ, लोकनाट्य, लोकोक्तियाँ, पहेलियाँ-बुझौवल
    3. हिंदी प्रदेश की जनपदीय बोलियाँ और उनका साहित्य (सामान्य परिचय)
    4. मौखिक साहित्य और समाज
  2. इकाई-२ लोकगीत:वाचिक और मुद्रित
    1. संस्कार गीत: सोहर, विवाह, मंगलगीत/
    2. सोहर भोजपुरी
    3. सोहर अवधी
    4. विवाह-भोजपुरी-भारतीय लोकसाहित्य
    5. ऋतुसंबंधी गीत
      1. बारहमासा, होली, चैती, कजरी
    6. श्रमसंबंधी गीत:कटनी, जँतसर, दँवनी, रोपनी
      1. कटनी के गीत:अवधी
      2. जँतसारी:भोजपुरी
      3. हरियाणी:ईख निराई
    7. विविध गीत:
      1. घुघुति-कुमाउंनी: कविता कौमुदी:ग्रामगीत
      2. गढ़वाली: कविता कौमुदी: ग्रामगीत
  3. इकाई-३ लोककथाएँ एवं लोकगाथाएँ
    1. विधा का सामान्य परिचय
    2. प्रसिद्ध लोककथाएँ एवं लोकगाथाएँ, आल्हा, लोरिक, सारंगा-सदावृक्ष, बिहुला
      1. राजस्थानी लोककथा नं.२
      2. मालवी लोककथा नं.२
      3. अवधी लोककथा नं.२
  4. इकाई-४ लोकनाट्य
    1. पाठ: संक्षिप्त शाही लक्कड़हारा सांग
    2. बिदेसिया: भिखारी ठाकुर कृत लोकनाट्य
      1. बिदेसिया, कठपुतली, सांग(हरियाणा), भांड, ख्याल(राजस्थान), माच(मालवा)